Loading

10 February 2011

शहीदे-आज़म भगत सिंह इंटरनैशनल रैसलिंग टूर्नामैंट, खटकड़ कला नवा शहर में आज शुरू


हिसार
    शहीदे-आज़म भगत सिंह इंटरनैशनल रैसलिंग टूर्नामैंट, खटकड़ कला नवा शहर में आज शुरू हुई और इसमें देश व विदेशो से जाने-माने पहलवान अपने दमखम दिखाने के लिए पहुंचे है। कार्यक्रम का उदघाटन फिल्म अभिनेता धमेन्द्र ने किया व गुरू जम्भेश्वर विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, हिसार के कुलपति डा एम एल रंगा ने कार्यक्रम में विशेष अतिथि के रूप में शिरकत की। यह कार्यक्रम डीआईजी, पंजाब पदमश्री करतार सिंह पहलवान द्वारा आयोजित किया जा रहा है। विजेता पहलवान को 30 लाख रूपये का ईनाम दिया जाएगा।
कुलपति डा एम एल रंगा ने शहीदे-आज़म भगत सिंह के पैतृक गांव खटकड़ कला स्थित उनके घर पर जाकर उन्हे श्रदांजलि दी व उनकी प्रतिमा पर पुष्प अर्पित किए और देश की आजादी में शहीद भगत सिंह की विशेष भूमिका को सराहा। डा रंगा ने अपने अतिथिय भाषण में कहा कि देश के पहलवानो ने एशियन व कोमनवैल्थ खेलों में सराहनीय प्रदर्शन किया जिसकी बदौलत भारत ने कुश्ती में अनेको स्वर्ण पदक जीते व देश का नाम उंचा किया। डा रंगा ने कहा कि भारत के पहलवान अन्तर्राष्टïरीय स्तर के है और हर अन्तर्राष्टïरीय प्रतिस्पर्धा में ईनाम जीतकर लाते है। उन्होने आगे कहा कि एशियन व कोमनवैल्थ खेलों में उच्च कोटि के प्रदर्शन के पश्चात युवाओं में एक नया जोश देखा जा सकता है। डा रंगा ने कहा कि खेलों का जीवन में एक विशेष स्थान होता है और युवाओं को खेलों में बढचढ कर हिस्सा लेना चाहिए। खेलों में हिस्सा लेने से अनुशासन की भावना पैदा होती है।
इस अवसर पर मशहूर पंजाबी सूफी गायक हंस राज हंस व अनेक मशहूर हस्तिया भी उपस्थित थी।

6 comments:

  1. इस बात में कोई भी दो राय नहीं है कि लिखना बहुत ही अच्छी आदत है, इसलिये ब्लॉग पर लिखना सराहनीय कार्य है| इससे हम अपने विचारों को हर एक की पहुँच के लिये प्रस्तुत कर देते हैं| विचारों का सही महत्व तब ही है, जबकि वे किसी भी रूप में समाज के सभी वर्गों के लोगों के बीच पहुँच सकें| इस कार्य में योगदान करने के लिये मेरी ओर से आभार और साधुवाद स्वीकार करें|

    अनेक दिनों की व्यस्ततम जीवनचर्या के चलते आपके ब्लॉग नहीं देख सका| आज फुर्सत मिली है, तब जबकि 14 फरवरी, 2011 की तारीख बदलने वाली है| आज के दिन विशेषकर युवा लोग ‘‘वैलेण्टाइन-डे’’ मनाकर ‘प्यार’ जैसी पवित्र अनुभूति को प्रकट करने का साहस जुटाते हैं और अपने प्रेमी/प्रेमिका को प्यार भरा उपहार देते हैं| आप सबके लिये दो लाइनें मेरी ओर से, पढिये और आनन्द लीजिये -

    वैलेण्टाइन-डे पर होश खो बैठा मैं तुझको देखकर!
    बता क्या दूँ तौफा तुझे, अच्छा नहीं लगता कुछ तुझे देखकर!!

    शुभाकॉंक्षी|
    डॉ. पुरुषोत्तम मीणा ‘निरंकुश’
    सम्पादक (जयपुर से प्रकाशित हिन्दी पाक्षिक समाचार-पत्र ‘प्रेसपालिका’) एवं राष्ट्रीय अध्यक्ष-भ्रष्टाचार एवं अत्याचार अन्वेषण संस्थान (बास)
    (देश के सत्रह राज्यों में सेवारत और 1994 से दिल्ली से पंजीबद्ध राष्ट्रीय संगठन, जिसमें 4650 से अधिक आजीवन कार्यकर्ता सेवारत हैं)
    फोन : 0141-2222225(सायं सात से आठ बजे के बीच)
    मोबाइल : 098285-02666

    ReplyDelete
  2. यदि आप हिंदी और हिंदुस्तान से प्यार करते है तो आईये हिंदी को सम्मान देने के लिए उत्तर प्रदेश ब्लोगेर असोसिएसन uttarpradeshblogerassociation.blogspot.com के सदस्य बने अनुसरण करे या लेखक बन कर सहयोग करें. हमें अपनी id इ-मेल करें. indianbloger @gmail .com

    ------ हरेक हिंदी ब्लागर इसका सदस्य बन सकता है और भारतीय संविधान के खिलाफ न जाने वाली हर बात लिख सकता है । --------- किसी भी विचारधारा के प्रति प्रश्न कर सकता है बिना उसका और उसके अनुयायियों का मज़ाक़ उड़ाये । ------- मूर्खादि कहकर किसी को अपमानित करने का कोई औचित्य नहीं है । -------- जो कोई करना चाहे केवल विचारधारा की समीक्षा करे कि वह मानव जाति के लिए वर्तमान में कितनी लाभकारी है ? ----- हरेक आदमी अपने मत को सामने ला सकता है ताकि विश्व भर के लोग जान सकें कि वह मत उनके लिए कितना हितकर है ? ------- इसी के साथ यह भी एक स्थापित सत्य है कि विश्व भर में औरत आज भी तरह तरह के जुल्म का शिकार है । अपने अधिकार के लिए वह आवाज़ उठा भी रही है लेकिन उसके अधिकार जो दबाए बैठा है वह पुरुष वर्ग है । औरत मर्द की माँ भी है और बहन और बेटी भी । इस फ़ोरम के सदस्य उनके साथ विशेष शालीनता बरतें , यहाँ पर भी और यहाँ से हटकर भी । औरत का सम्मान करना उसका अधिकार भी है और हमारी परंपरा भी । जैसे आप अपने परिवार में रहते हैं ऐसे ही आप यहाँ रहें और कहें हर वह बात जिसे आप सत्य और कल्याणकारी समझते हैं सबके लिए ।

    आइये हम सब मिलकर हिंदी का सम्मान बढ़ाएं.

    ReplyDelete
  3. स्वागत आपका दिन्दी ब्लाग जगत में.

    नजरिया का अवलोकन करें, फालो करके अपने ब्लाग पर फालोअर्स भी बढावें । शुभकामनाएँ...

    http://najariya.blogspot.com/

    ReplyDelete
  4. इस सुंदर से चिट्ठे के साथ आपका हिंदी चिट्ठा जगत में स्‍वागत है .. नियमित लेखन के लिए शुभकामनाएं !!

    ReplyDelete